इश्क़


        इश्क़

रास्तों में मुस्किलें मिलेंगी
 तुम रुकना मत,

बस कुछ देर बाद मंजिलें भी मिलेंगी,
फिर भी तुम रुकना मत,

राहें अनजान होंगी,
मुसकिलें नादान होंगी,
तुम रुकना मत,

ख़ैर,
इस एकतरफा इश्क़ का तुम्हे खामियाजा
भी मिलेगा,
उससे परेशान होकर तुम रुकना मत..,

इश्क़ करना छोड़ना मत..!
   
              Adarsh

©Adarsh
@alphaz_mere

Comments

Post a Comment

Popular Posts