एक नयी सुरुवात !


एक नयी सुरुवात!!!

चलो एक नयी सुरुवात करते है,
तुमको देखते देखते सुबह से शाम करते है,
चलो एक नयी सुरुवात करते हैं ।

अभी तुम गुमनाम ही तो हो
चलो तुम्हें बेइंतेहा प्यार सरेआम करते हैं,
चलो एक नयी सुरुवात करते हैं ।

दिन का क्या है
एक समय के बाद ढल ही जाएगा,
ये खूबसूरत शमा भी
एक पल बाद गुजर ही जाएगा ,
गर तुम साथ जीने का वादा करो
तो हर लम्हा खूबसूरत हो जाएगा ।

चलो एक नई शुरुवात करते है,
तुमको देखते देखते सुबह से शाम करते है ।

           Adarsh kumar

Insta:- @alphaz_mere

Twitter:- iamadarsh_xd

Share if you liked my love poetry...
For these type of poetries you can follow me on different types of social media  sites .

Comments

Post a Comment

Popular Posts